Affiliate Marketing क्या है? कैसे करते हैं? | 5 Steps of Affiliate Marketing in Hindi

ऑनलाइन पैसे कमाने के बारे में आपने कभी न कभी जरुर सोचा होगा। आज internet के माध्यम से आप कई अलग-अलग तरीकों से पैसे कमा सकते हैं। उन्हीं में से एक popular तरीका एफिलिएट मार्केटिंग है।

1990 के जमाने से एफिलिएट मार्केटिंग इन्टरनेट से पैसे कमाने का एक बेहतरीन तरीका बना हुआ है। समय के साथ बदलाव होते रहते हैं लेकिन आज भी affiliate marketing का business grow कर रहा है।

यह online sales generate करने और passive income कमाने की बहुत ही popular strategy है। आज हम affiliate marketing क्या है? एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करते हैं? इसके क्या फायदे हैं? आदि के बारे में बात करने वाले हैं।

Affiliate Marketing in Hindi

एफिलिएट मार्केटिंग क्या है? | What is Affiliate Marketing in Hindi?

एफिलिएट मार्केटिंग एक ऐसा प्रोसेस है जिसमें आप किसी अन्य व्यक्ति या कंपनी के प्रोडक्ट का प्रचार करते हैं और बिक्री (sale) होने पर कुछ प्रतिशत कमीशन प्राप्त करते हैं।

Affiliate Marketing एक प्रकार का ऑनलाइन मार्केटिंग का तरीका है। जिसमे आप अलग-अलग तरीके से लोगों को प्रोडक्ट के बारे में बताते हैं। जब कोई व्यक्ति आपके affiliate link पर click करके उस प्रोडक्ट को खरीदता है तो आपको कुछ percent commission मिल जाता है।

एफिलिएट मार्केटिंग करने वाले को Affiliate, Partner, या publisher कहा जाता है।

इस बिज़नेस की सबसे अच्छी बात ये है की आप पूरी तरह से स्वतन्त्र होते हैं, आप किसी एक कंपनी के लिए काम नही करते हैं। आप एक साथ अलग-अलग product या service को प्रमोट कर सकते हैं और सभी से कमीशन प्राप्त कर सकते हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग करने के फायदे? (Benefits of Affiliate Marketing in Hindi)

1. बिलकुल Free या बहुत ही कम लागत में शुरू कर सकते हैं

ज्यादातर affiliate programs Free to join होते हैं यानी आपको किसी भी प्रकार की पेमेंट करने की जरुरत नही है। आप बस free account बना कर हजारों की संख्या में से अपनी niche या सुविधा के अनुसार products या सर्विस का चुनाव कर सकते हैं।

हाँ अगर आप वेबसाइट बना कर एफिलिएट मार्केटिंग करना चाहते हैं तो उसमे domain और hosting पर कुछ पैसे invest करने पड़ेंगे।

2. Low Risk बेहतरीन Returns

अगर इस business में risk की बात करें तो बहुत ही कम है, अगर आप successful नही हो पाते हैं तो आपको सिर्फ उतना ही नुकसान होगा जितना आपने मार्केटिंग या वेबसाइट पर invest किया है।

लेकिन अगर हम (Return of Investment) ROI की बात करें तो affiliate marketing में काफी बड़े returns मिल सकते हैं।

3. एक बेहतरीन Passive Income Source

यह एफिलिएट मार्केटिंग का सबसे बड़ा advantage है। इससे आप बेहतरीन पैसिव इनकम generate कर सकते हैं। अगर आप एक affiliate marketing website या blog बना लेते हैं तो वहां से आपको कभी sales आ सकते हैं actively काम करें या न करें।

4. प्रोडक्ट/ कंपनी चुनने के लिए आप स्वतंत्र होते हैं

आप किस प्रोडक्ट या सर्विस को promote करना चाहते हैं इसका निर्णय लेने के लिए आप स्वतन्त्र हैं। आप अपनी audience के अनुसार प्रोडक्ट का चुनाव करते हैं। किसी भी affiliate program का आप पर कोई दबाव नही होता।

5. किसी योग्यता या experience की जरुरत नही

Affiliate marketing business शुरू करने के लिए किसी प्रकार की qualifications की आवश्यकता नही है। आपने कितनी पढाई की है, आपको कितना अनुभव है इसका कोई लेना-देना नही है।

एक बिलकुल नया व्यक्ति भी इस व्यवसाय में घुस सकता है, सीख सकता है और पैसे कमा सकता है।

6. काम करने के कई सारे तरीके हैं

ब्लॉग या वेबसाइट बना कर एफिलिएट मार्केटिंग करना सबसे popular और बेहतर तरीका है। लेकिन सिर्फ यही एक तरीका नही है। आप अलग-अलग तरीके जैसे: Youtube videos बनाकर, Social Media पर पोस्ट करके, ईमेल मार्केटिंग के जरिये भी प्रोडक्ट का promotion कर सकते हैं।

7. खुद को Marketing material बनाने की आवश्यकता नही

ज्यादातर affiliate programs आपको प्रमोशन के लिए materials जैसे banner, images आदि provide करते हैं। आपको promotion material design करने की आवश्यकता नही पड़ती।

Affiliate Marketing कैसे काम करता है?

how affiliate marketing works in Hindi

जब आप किसी affiliate program को join करते हैं तो आपको एक unique link मिलता है जिसे एफिलिएट लिंक कहा जाता है।

जब आप इस लिंक को अपनी website, blog या social media के जरिये लोगों के साथ शेयर करते हैं और यदि कोई उस लिंक पर क्लिक करके प्रोडक्ट को खरीदता है तो एक sale count हो जाता है। हर एक सेल के बदले आपको कुछ पैसे मिल जाते हैं।

Affiliate marketing के इस पूरे प्रोसेस में तीन प्रकार के लोग शामिल होते हैं:

  1. Seller या Product बनाने वाला: वह व्यक्ति या कंपनी जो अपना प्रोडक्ट बेचना चाहता है Seller या merchant कहलाता है। ये कोई प्रोडक्ट बनाने या service provide करने वाली कंपनी या कोई Amazon जैसी online store भी हो सकती है।
  2. Affiliate Marketer: वह व्यक्ति जो प्रोडक्ट का प्रचार करता है एफिलिएट मार्केटर, affiliate या publisher कहलाता है।
  3. Consumer: Affiliate marketer के लिंक के द्वारा सामान खरीदने वाला व्यक्ति consumer कहलाता है।

जब कस्टमर प्रोडक्ट खरीद लेता है तो कमाए गये प्रॉफिट को seller और affiliate आपस में बाँट लेते हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करें?

यह बिज़नेस कैसे काम करता है इस बारे में आपको basic information मिल गयी है। तो चलिए अब step-by-step तरीके से जानते हैं की affiliate marketing का व्यवसाय कैसे शुरू करें:

Step 1 – अपना Platform चुने

इस बिज़नेस को करने के लिए आपको कोई न कोई एक ऑनलाइन प्लेटफार्म select करना पड़ेगा जहाँ आप audience इकठ्ठा कर सकें और उनके साथ कंटेंट शेयर कर सकें।

एफिलिएट मार्केटिंग करने का सबसे पुराना और कारगर तरीका है ब्लॉग या वेबसाइट बनाकर प्रोडक्ट प्रमोट करना। लेकिन जरुरी नही है आपको सिर्फ वेबसाइट बनाना है।

इस काम को करने के लिए आप किसी भी platform का उपयोग कर सकते हैं जैसे:

  • ब्लॉग / वेबसाइट
  • YouTube Channel
  • Instagram
  • Telegram
  • Email
  • Facebook Group आदि

Step 2 – Niche का चुनाव करें और Content Create करें

प्लेटफार्म चुनने के बाद आपको उसपर content, जैसे blog post, images, videos आदि शेयर करने पड़ेंगे। इसके लिए आपको किसी एक niche को select करना होगा। niche का मतलब category यानि ऐसा विषय जिसके बारे में आप content बनाना चाहते हैं।

आपको ऐसे विषय को चुनना चाहिए जिसे लोग पसंद करें, किसी problem का solution हो या कोई भी काम की जानकारी हो।

Niche कई प्रकार के हो सकते हैं उदाहरण के लिए:

  • फोटोग्राफी
  • मनोरंजन
  • Tutorials
  • कंप्यूटर
  • गेमिंग
  • होम डेकोरेशन
  • फाइनेंस
  • गार्डनिंग आदि।

Niche select करते समय सिर्फ अपने interest के बारे में नही सोचना चाहिए आपको इस बात का ध्यान रखना पड़ेगा की उस niche पर affiliate marketing करना कितना फायदेमंद है। इसके लिए आप उस विषय से जुड़े affiliate programs की जानकारी पहले से ले लेनी चाहिए।

Step 3 – Affiliate Program Join करें

Niche selection के बाद आपको अपने कंटेंट में किसी प्रोडक्ट की जानकारी देनी होती है और उसका affiliate link शेयर करना होता है।

Product खोजने के लिए आपको Affiliate program join करना पड़ेगा। इन्टरनेट पर आपको कई सारे affiliate networks मिल जायेंगे जिन पर अपना account बना लें।

कुछ famous affiliate networks कुछ इस प्रकार हैं:

Niche के अनुसार promotion के लिए सही प्रोडक्ट/सर्विस को चुनकर उससे जुडी जानकारियां लोगों के साथ शेयर करना शुरू करें। ध्यान रहे सिर्फ पैसे कमाने के लिए product recommend न करें, ऐसे प्रोडक्ट को ही प्रमोट करें जो आपके audience के काम की हो। हो सके तो उस प्रोडक्ट या सर्विस का उपयोग पहले स्वयं करके देख लें।

Step 4 – Affiliate Link शेयर करें

अब आपको अपने content के अंदर चुने गये प्रोडक्ट का एफिलिएट लिंक शेयर करना है। आप अपने ब्लॉग पोस्ट में, Instagram के bio में, Facebook profile या post में, YouTube video के description में लिंक डाल सकते हैं।

ध्यान रहे आप बार-बार लोगों को प्रोडक्ट खरीदने के लिए कह कर उनके परेशान न करें। हमेशा promotion न करें, लोगों के काम के कंटेंट शेयर करते रहें।

Step 5 – ज्यादा से ज्यादा Traffic लायें और इनकम बढ़ाएं

अब आपको ज्यादा इनकम चाहिए तो उसके लिए आपको अपने चुने गये platform पर ज्यादा से ज्यादा traffic लाना है, यानी आपके content को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाना है।

अगर ब्लॉग बनाया है तो अपने आर्टिकल्स को प्रमोट करना शुरू करें, Search Engine Optimization के बारे में जानकारी लें, Social media पर उसे शेयर करें, आप चाहें तो advertisements भी उपयोग कर सकते हैं।

यदि आप Social media से affiliate marketing कर रहे हैं तो अपने followers और reach बढाने पर ध्यान दें। इसके लिए भी आप चाहें तो कुछ पैसे invest कर paid marketing भी कर सकते हैं।

Affiliate Marketing से जुड़े कुछ जरुरी सवाल – FAQs (Frequently Asked Questions)

आगे पढ़ें:

हमें उम्मीद है आपको एफिलिएट मार्केटिंग क्या है और एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करते हैं इस बारे में लिखी गयी यह जानकारी पसंद आई होगी। यदि आप इस विषय में चर्चा करना चाहते हैं तो निचे कमेंट बॉक्स का उपयोग जरुर करें।

Default image
Vivek Vaishnav
नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ। इस ब्लॉग से आप वेब डिजाईन, वेब डेवलपमेंट, Blogging से जुड़े जानकारियां और tutorials प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

3 Comments

  1. thanku sir

  2. Nice post bhai…apka yah article bahot helpful laga bhai…

Leave a Reply