SEO क्या है? कैसे काम करता है? (What is SEO in Hindi?)

SEO kya hai

अगर आप “SEO क्या है? इस बारे में विस्तार से जानकारी चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपको जरुर पढना चाहिए।

हर एक ब्लॉगर की यही चाहत होती है की वह जो भी ब्लॉग पोस्ट लिखे उसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, उस पर ढेर सारी ट्रैफिक आये, ताकि इनकम भी बढ़ जाए।

लेकिन सवाल आता है की ज्यादा ट्रैफिक आएगा कहाँ से?

तो जवाब है, सर्च इंजन

क्योंकि 90% लोग इंटरनेट पर किसी भी चीज को ढूँढने के लिए सर्च इंजन का ही उपयोग करते हैं। और इनमे भी सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला सर्च इंजन है गूगल।

अब जरा सोचिये आपने अपने ब्लॉग या वेबसाइट में कोई content publish किया है, और यदि कोई व्यक्ति उसी कंटेंट से जुडी जानकारी गूगल पर सर्च करता है और रिजल्ट वाले पेज में सबसे टॉप पर आपके वेबसाइट की लिंक आ जाती है, तो क्या होगा?

बिलकुल लोग उस पर क्लिक करेंगे… और ट्रैफिक बढ़ जायेगी।

लेकिन अभी भी सवाल आता है की आखिर ऐसा होगा कैसे?

इस काम को करने के लिए दो तरीके हैं:

  1. Search Engine Marketing (SEM)
  2. Search Engine Optimization (SEO)

जहाँ SEM का मतलब है paid marketing, हम गूगल को पैसे देकर advertisement कर सकते हैं। लेकिन SEO एक ऐसा तरीका है जिसमे हम गूगल को बिना पैसे दिए organic तरीके से ट्रैफिक पा सकते हैं।

आज इस आर्टिकल में हम सिर्फ SEO के बारे में बात करेंगे और विस्तार से जानेंगे की आखिर SEO क्या होता है?

Search Engine Optimization के बारे में जानने से पहले आपको सर्च इंजन कैसे काम करता है इस बारे में जानकारी होनी चाहिए जिसके लिए detailed article: सर्च इंजन क्या है? कितने प्रकार के होते हैं? यह कैसे काम करता है? जरुर पढ़ें।

SEO क्या है? What is Search Engine Optimization in Hindi?

SEO का full form “Search Engine Optimization” है। यह एक ऐसी technique है जिससे हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग के कंटेंट को optimize करके सर्च इंजन पर किसी keyword के लिए टॉप पोजीशन पर रैंक करा सकते हैं।

SEO एक ऐसा प्रोसेस है जिससे हम अपने वेबसाइट / ब्लॉग के कंटेंट को optimize करके सर्च इंजन में टॉप पर ला सकते हैं ताकि हमें ज्यादा से ज्यादा visitors मिल सके।

एक ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल के SERP (Search Engine Result Page) में पहले पेज में लाने के लिए कई सारी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है और काफी मेहनत भी करनी पड़ती है।

एक नये ब्लॉगर के लिए इस process में समय भी लगता है इसलिए धैर्य भी रखना पड़ता है।

Google में First Page पर रैंक करना क्यों जरुरी है?

हर ब्लॉगर की कोशिश रहती है की उसका blog post को गूगल के पहले पेज पर दिखाई दे। ऐसा इसलिए क्योंकि ज्यादातर लोग पहले पेज पर आने वाली वेबसाइट पर ही visit करना पसंद करते हैं।

एक रिसर्च के अनुसार लगभग 94% clicks गूगल के first page पर ही आते हैं।

ऐसे में हर बिज़नेस की भी यही कोशिश होती है की वह SERP में पहले पेज पर आये ताकि वह अपने competitor से आगे निकल सके। इसलिए SEO क्या है इस बारे में जानकारी होना जरुरी है।

SEO क्यों जरुरी है?

अगर आप blogging करते हैं तो आपको यह जरुर पता होगा की इन्टरनेट पर हर रोज लाखों की संख्या में ब्लॉग पोस्ट पब्लिश किये जाते हैं, लेकिन उनमे से केवल कुछ ही पोस्ट सर्च इंजन पर top में rank कर पाते हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि गूगल जैसे सर्च इंजन का algorithm रैंकिंग से पहले कई सारी चीजों की जांच करता है और उसके बाद ही निर्णय लेता है की कौन सा पोस्ट किस कीवर्ड पर रैंक करेगा और कौन से position में दिखाई देगा।

गूगल की हमेशा यही कोशिश होती है की वह हमेशा quality content को पहले पेज पर दिखाए, इसके लिए कई सारे ranking factors यानि नियम तय किये गये हैं।

Search Engine Optimization के जरिये हम इन्हीं नियमो का पालन कर पाते हैं।

मान कर चलिए आप एक पोस्ट लिख रहे हैं जिसका title है “What is search engine optimization?” अब आप इसे गूगल पर सर्च करके देखें…

SERP-SEO in Hindi

आप देख सकते हैं की उस Keyword से जुडी जानकारी 24,70,00,000 pages पर पहले से मौजूद है। अब इन सभी को पीछे छोड़ कर अगर आप टॉप में आना चाहते हैं तो यह काम बिना SEO के सम्भव नही है।

हाँ, आप ऐसे keyword पर भी आर्टिकल लिख सकते हैं जिसपर कोई competition नही है, लेकिन यदि आपका article SEO optimized नही है तो कल को कोई दूसरा व्यक्ति उसी टॉपिक पर पोस्ट लिखकर आपसे आगे निकल जाएगा। यही वजह से SEO क्या है यह जानना और SEO techniques का उपयोग करना बहुत ही जरुरी है।

SEO कैसे काम करता है?

SEO क्या है इस की basic जानकारी आपको पता चल चुकी है, अब हो सकता है आपके मन में यह सवाल आ रहा हो की आखिर SEO कैसे काम करता है? तो इसे समझने के लिए हमें सर्च इंजन को समझना पड़ेगा की आखिर वह किस प्रकार के content को SERP में top position पर दिखाता है?

दरअसल गूगल और अन्य search engines की यही कोशिश होती है की वह अपने users को सबसे सही और सटीक जानकारी प्रदान करे।

इसके लिए वह उस जानकारी से सम्बन्धित websites को खोजता है और अपने algorithm के मध्यम से quality और credibility (विश्वसनीयता) के आधार पर रैंकिंग प्रदान करता है।

SEO techniques के जरिये हमारी यही कोशिश होती है की हम अपनी वेबसाइट की quality और credibility को improve कर सकें।

SEO कितने प्रकार के होते हैं? (Types of SEO in Hindi)

Search Engine Optimization मुख्य रूप से 4 प्रकार होते हैं:

  1. On-Page SEO
  2. Off-Page SEO
  3. Technical SEO

वेबसाइट रैंकिंग के लिए ये तीनो बहुत ही important हैं। आइये इनके बारे में थोडा विस्तार से समझते हैं:

On-Page SEO क्या है?

On-Page SEO में हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग के कंटेंट को optimize करते हैं।

यह एक कॉमन तरीका है जिससे हम अपने ब्लॉग पोस्ट को ऑप्टिमाइज़ करते हैं।

इसके लिए हमें मुख्य रूप से 3 काम करने होते हैं:

  • Keyword Research करना
  • Content Create करना
  • Keyword Optimization करना

Keyword Research करना

जब भी हम अपने ब्लॉग पर आर्टिकल लिखते हैं तो उससे पहले हम ऐसे keywords को ढूंढते हैं जिसे गूगल पर ज्यादा सर्च किया जाता है और उसपर रैंक किया जा सके।

ऐसा करना जरुरी है क्योंकि यदि हम बिना कीवर्ड रिसर्च के आर्टिकल लिखते हैं तो उसके रैंक होने के उम्मीद बहुत कम होती है।

Keyword research के लिए कई सारे tools हैं जिनका उपयोग किया जाता है जैसे:

  • Google Keyword Planner
  • Ahref
  • SEMrush
  • Ubersuggest आदि

इन tools की मदद से किसी भी keyword की ट्रैफिक और competition देखी जा सकती है। हांलाकि ये 100% accurate तो नही होते लेकिन इससे अंदाजा जरुर लगाया जा सकता है।

Content Create करना

Target keyword मिलने के बाद अगला स्टेप होता है कंटेंट बनाना यानि पोस्ट लिखना। आपको content create करते समय उसकी quality का ध्यान रखना पड़ता है, उसमे आपको केवल वही चीजें डालनी हैं जिसे आपकी audience पढना चाहती है।

Keyword Optimization करना

इस स्टेप में हमें अपने target keywords को सही जगह पर डालना होता है ताकि हमारा कंटेट उन keywords के लिए optimized हो जाए। इसमें हमें title, heading, tags, URL structure आदि में सही तरीके से कीवर्ड डालकर optimization करना होता है।

इस बारे में अधिक जानकारी के लिए पढ़िए: On-Page SEO क्या है? कैसे करें? [15 तरीके]

Off-Page SEO क्या है?

जैसा की नाम से पता चल रहा है, इसमें हम कुछ ऐसे SEO techniques का उपयोग करते हैं जो की हमारे वेबसाइट की रैंकिंग को boost करने के लिए बाहर से सपोर्ट करता है।

यानी off-page SEO में हमे अपने वेबसाइट के अंदर कोई बदलाव नही करने होते।

यहाँ पर हम कुछ ऐसे काम करते हैं जिससे हमारे website की authority और reputation increase होती है। इसके लिए कुछ इस तरह के काम करने होते हैं:

  • Backlink बनाना: यानी किसी दूसरे वेबसाइट से link प्राप्त करना
  • Social Media Sharing: सोशल मीडिया पर अपने पोस्ट की लिंक शेयर करना आदि।

Backlink बनाने के लिए कई सारे तरीके हैं जैसे: guest posting, social bookmarking आदि। बैकलिंक बनाते समय हमें इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए की जिस साईट पर हम लिंक बना रहे हैं उसकी क्वालिटी भी अच्छी होनी चाहिए नही तो इसका negative प्रभाव भी पड़ सकता है।

Technical SEO क्या है?

आपकी वेबसाइट दिखने में अच्छी है, आपने कंटेंट भी अच्छे डाले हैं लेकिन इसके बावजूद आपको अपनी साईट को optimize करने की जरुरत पड़ सकती है।

Technical SEO में हम site के backend पर काम करते हैं और user experience (UX) को improve करने की कोशिश करते हैं। इसके लिए हमें निचे दिए कुछ चीजों पर ध्यान देना पड़ता है:

  • Page speed: आपके ब्लॉग/वेबसाइट की loading speed अच्छी होनी चाहिए नही तो यूजर आपकी साईट बंद करके कहीं और चला जाएगा और इससे गूगल को negative signal मिलेगा जिससे ranking down हो सकती है। आप Google PageSpeed Insights से site की स्पीड चेक कर सकते हैं।
  • Mobile Friendly Site: आपकी साईट मोबाइल पर अच्छे से दिखाई देना चाहिए इसके लिए आपको responsive website theme का उपयोग करना चाहिए।
  • HTTPs का उपयोग करें: यह एक प्रकार का secured protocol है, by default site HTTP पर चलती है जो की सुरक्षित नही होती है। इसके लिए आपको SSL install करना पड़ता है। आप हमारे अन्य आर्टिकल “HTTPs क्या है” में इस बारे में विस्तार से पढ़ सकते हैं।
  • Robot.txt File: यह एक प्रकार की फाइल है जिसमे कुछ codes होते हैं जो की सर्च इंजन को बताते हैं की कौन से पेज को crawl करना है और किसे नही करना है। इसपर भी सावधानीपूर्वक ध्यान देना पड़ता है।

तो ये कुछ points थे जिन्हें technical seo में ध्यान देना आवश्यक है।

Conclusion – SEO क्या है? (What is SEO in Hindi?)

SEO क्या होता है यह तो आपको समझ आ ही गया होगा। अगर आपके पास वेबसाइट है या आप एक ब्लॉगर हैं तो आपको अपनी साईट पर सर्च इंजन से फ्री में ट्रैफिक पाना है तो SEO जरुर सीखना पड़ेगा। आजकल बड़ी-बड़ी कंपनियां अपनी वेबसाइट की search ranking को boost करने के लिए SEO experts और डिजिटल मार्केटिंग पर अच्छा खासा पैसा खर्च करती हैं। अगर आप इस फील्ड में करियर बनाना चाहते हैं तो आपको ये सभी techniques को बारीकी से सीखनी पड़ेगी।

आज “SEO क्या है? (What is SEO in Hindi?)” इस बारे में हमने इस आर्टिकल में काफी चीजें बतायीं हैं जिससे SEO क्या होता है यह समझा जा सकता है, आगे भी हम इस विषय पर चर्चा करते रहेंगे। हमें उम्मीद है आपको यह जानकारियां पसंद आ रही होंगी। इस बारे में अपनी राय निचे कमेंट बॉक्स में जरुर रखें।

Default image
Vivek Vaishnav
नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ। इस ब्लॉग से आप वेब डिजाईन, वेब डेवलपमेंट, Blogging से जुड़े जानकारियां और tutorials प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

Newsletter Updates

Enter your email address below to subscribe to our newsletter

3 Comments

  1. aapne bahut achche se samjhaya mujhe bahut acha laga aur bahut kuch shikhne ko mila. apka bhut bahut dhnywad.

  2. Thanks for sharing knowledge and nice article

Leave a Reply

error:
Copy link