On-Page SEO क्या है? कैसे करें? [15 Techniques]

on-page-seo-in-hindi

किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग में सर्च इंजन से ट्रैफिक लाने के लिए SEO करना जरुरी है इसलिए इसे बारीकी से जानना जरुरी है।

जब हमने “SEO क्या है” इस विषय पर आर्टिकल लिखा था तो उसमे भी आपको On Page SEO के बारे में कुछ जानकारी दी थी।

आज हम इसे थोडा और विस्तार से समझेंगे और जानेंगे की आखिर On-Page SEO क्या है? और इसे कैसे किया जाता है?

वैसे तो किसी वेबसाइट को सर्च इंजन के लिए optimize करने के लिए मुख्य रूप से तीन प्रकार के SEO का उपयोग होता है: On page SEO, Off page SEO और Technical SEO.

लेकिन आज हम सिर्फ On page SEO क्या होता है? इसके ranking factors कौन-कौन से हैं? और ऑन-पेज optimization के 15 techniques के बारे में बात करेंगे। अगर आपके पास वेबसाइट है या आप ब्लॉग लिखते हैं तो आपको इस बारे में जानकारी होना चाहिए।

On-Page SEO क्या है? What is On-Page SEO in Hindi?

On-page SEO एक ऐसा प्रोसेस है जिससे हम अपने वेब पेज को कुछ इस तरह से optimize करते हैं की सर्च इंजन पर वह रैंक करे ताकि ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक मिल सके।

अगर आप गूगल से free में organic traffic पाना चाहते हैं तो आपको अपने ब्लॉग पोस्ट को कुछ इस तरह से लिखना होगा की वह गूगल और यूजर दोनों को अच्छी तरह समझ आये और पसंद भी आये।

इस प्रोसेस में हमारी कोशिश होती है की आर्टिकल या कंटेंट की quality improve हो और focus keywords की placement सही जगह हो।

इसके लिए हमें कई सारे काम करने होते हैं जैसे: Title, Headline, meta description, URL आदि को सही तरीके से optimize करना।

On-Page SEO क्यों जरुरी है?

ज्यादातर लोग इन्टरनेट पर चीजें गूगल जैसे सर्च इंजन से ही ढूंढते हैं, अगर आपका ब्लॉग गूगल पर रैंक नही है तो ये लोग आपके ब्लॉग तक नही पहुँच पाएंगे।

इसलिए आपको अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल पर रैंक कराने की तैयारी करनी पड़ेगी। इसके लिए आपको Search Engine Optimization (SEO) techniques सीखनी पड़ेगी।

On-page SEO की सबसे अच्छी बात यह है की इसका पूरा control आपके हाथ में होता है।

अगर आपको सर्च इंजन से ट्रैफिक चाहिए तो On-page SEO करना पड़ेगा क्योंकि इसी से सर्च इंजन को पता चल पाता है की आपका कंटेंट किस बारे में है।

On-Page SEO Ranking Factors कौन-कौन से हैं?

ब्लॉग पोस्ट को सर्च इंजन के SERP में first page पर लाने के लिए हमें अपने ब्लॉग के अंदर कई सारी चीजों को optimize करना पड़ता है ताकि गूगल जैसे सर्च इंजन को अच्छी तरह समझ आ जाए की पोस्ट किस बारे में लिखा गया है।

आपको अपने ब्लॉग पोस्ट पर On-page optimization करते समय कुछ चीजों पर विशेष ध्यान देना पड़ता है जैसे:

  • Keywords
  • Title
  • Headings
  • Description
  • URL
  • Links
  • Images
  • ALT Tag
  • Page Speed
  • Mobile Friendly (Responsive) Site

इन SEO factors पर ध्यान देकर अगर आप blog post लिखते हैं तो आपके सर्च इंजन पर रैंक करने के chances बढ़ जाते हैं।

On-Page SEO कैसे करें? [15 On-Page SEO Techniques]

तो चलिए अब मुद्दे पर आते हैं और जानते हैं की आखिर on-page SEO कैसे करते हैं और इसके लिए क्या-क्या करना पड़ता है।

वैसे तो इस काम के लिए कई सारी चीजों पर ध्यान देना पड़ता है लेकिन फिर भी हम निचे 15 on-page optimization techniques दे रहे हैं जो आपके काम आएँगी:

1. Content को Simple रखें

जहाँ तक हो सके आपको अपनी कंटेंट को सरल और समझने योग्य बनानी चाहिए। जिस topic पर आर्टिकल लिख रहे हैं उसकी के बारे में लिखें बेवजह इधर-उधर की चीजों को add न करें।

SEO के लिए सिर्फ keywords पर ही focus न करें। इस बात का ध्यान रखें की आपका पोस्ट एक इन्सान पढने वाला है और हर एक इंसान को सरल चीजें जल्दी समझ आती हैं और पसंद भी आती हैं।

2. कंटेंट को updated रखें

इन्टरनेट पर मौजूद ऐसे contents का कोई काम नही है जो की outdated हैं और वर्तमान में उनका कोई उपयोग नही है।

ज्यादातर users latest information को पढना पसंद करते हैं और गूगल SERP में वही दिखाना चाहेगा जो यूजर को पसंद है। तो दोस्त अगर गूगल की नजर में चढ़ना है तो अपने content को बीच-बीच में ताजा करते रहें।

3. Keyword Research जरुर करें

उस जानकारी का क्या काम जिसे कोई ढूंढता ही नही है? ज्यादा ट्रैफिक पाना है तो वही लिखें जिसे लोग इन्टरनेट पर खोज रहें हैं। अब यह कैसे पता चलेगा? तो इसके लिए आपको keyword research करना पड़ेगा।

कीवर्ड रिसर्च करके आपको कुछ ऐसे keywords ढूँढने होंगे जिसे लोग ज्यादा सर्च करते हैं। इन कीवर्ड को हम target या focus keywords कहते हैं।

4. Target Keyword को पहले 100 शब्दों के अंदर जरुर लिखें

आपका कंटेंट किस बारे में है यह शुरुआत के कुछ लाइनों में ही clear हो जाना चाहिए इसके लिए शुरुआत में ही उससे जुड़े सही शब्दों और वाक्यों का उपयोग करना चाहिए।

बेहतर SEO के लिए शुरुआत के 100 शब्दों में अपना focus keyword को जरुर शामिल करें। इससे सर्च इंजन को article का context जल्दी समझ आ जाता है।

5. Post Title में Keyword add करें

जब हम target keyword को ब्लॉग पोस्ट के title में लिखते हैं तो इसका SEO पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है। इसलिए जहाँ तक हो सके अपने main keyword को टाइटल में जरुर लिखें। लेकिन इसके साथ ही आपकी कोशिश होनी चाहिए की टाइटल की लम्बाई अधिक न हो।

6. Meta Description को Optimize करें

Meta description में अपने पोस्ट के बारे में एक छोटा सा description लिखें जिसकी लम्बाई 160 words से अधिक नही होनी चाहिए।

Description में keyword को जरुर लिखें क्योंकि गूगल टाइटल और डिस्क्रिप्शन दोनों के keywords को highlight करता है।

7. Post के title को H1 tag में रखना चाहिए

अगर आप एक बढ़िया theme का उपयोग कर रहे हैं तो उसमे पहले से ही पोस्ट की title <h1> tag में होती है। अगर आपको यह नही पता है तो आप इसे HTML source code में इसे check सकते हैं।

इस बात का ध्यान रखें की एक पोस्ट/पेज में केवल एक ही H1 tag का उपयोग होना चाहिए।

8. Subheadings को H2 tag में रखें

पोस्ट के अंदर हमें subheadings का उपयोग करना चाहिए और यह H2 tag में होना चाहिए। Subheadings के अंदर और भी headings डाले जा सकते हैं जिसे आप H3, H4 आदि में रख सकते हैं।

Headings का उपयोग करते समय सही structure का ध्यान रखें, जैसे H1 के अंदर में H2 का उपयोग करें और H2 के अंदर H3 heading का उपयोग करें।

9. Keyword frequency का ध्यान रखें

कई लोगों के मन में यह सवाल भी आता है की एक keyword को कितने बार लिखना चाहिए? तो इसका कोई सही जवाब नही है। keyword placement कुछ इस तरह से करें की वह unnatural और पढने में अजीब न लगे।

जरुरत के अनुसार ही कीवर्ड का उपयोग करना चाहिए। बहुत कम बार keyword लिखने से गूगल को यह समझना मुश्किल होगा की आपका कंटेंट उस कीवर्ड के बारे में लिखा गया है या नही।

वहीँ बहुत अधिक बार एक ही कीवर्ड को लिखने से keyword-stuffing का खतरा रहता है।

10. External Link का उपयोग करें

आप जिस बारे में आर्टिकल लिख रहें हैं उससे सम्बन्धित किसी दूसरे वेबसाइट की लिंक आपको अपने पोस्ट में डालनी चाहिए इससे ranking boost होता है। इससे गूगल को आपके पोस्ट के विषय के बारे में भी जानकारी मिल जाती है।

लेकिन हमें ध्यान रखना चाहिए की external link उसी website या blog post की होनी चाहिए जो आपके content के topic से match करे।

11. Internal Linking करें

अपने ही ब्लॉग के किसी पोस्ट का लिंक अपने आर्टिकल में डालना internal linking कहलाता है।

अगर आप कोई आर्टिकल लिख रहे हैं और उस टॉपिक से सम्बन्धित कोई जानकारी पहले से लिख चुके हैं तो उसका लिंक अपने आर्टिकल में जरुर डालें।

कम रैंक वाले पोस्ट की link high authority वाले पोस्ट पर डालने से उसकी ranking improve होती है। Internal linking का सबसे अच्छा उदाहरण आप Wikipedia से देख सकते हैं:

on-page-seo-internal-linking-example

12. SEO Friendly URL Structure

गूगल आपके कंटेंट की URL को भी देखता है इसलिए इसे भी optimize करना जरुरी है। एक बढ़िया SEO optimized URL के लिए हमें दो चीजों का ध्यान रखना चाहिए:

  • URL का length छोटा होना चाहिए
  • URL में target keyword को जरुर शामिल करना चाहिए

URL को permalink भी कहते हैं, पोस्ट लिखते समय आप इसे edit कर सकते हैं।

13. Image Optimization

Website के सभी images को Google उनके नाम और alt text की मदद से पहचानता है और यह समझने की कोशिश करता है की हम इमेज के जरिये user को क्या बताना चाहते हैं।

इसलिए हमे एक image की SEO optimization के लिए दो काम करने चाहिए:

  1. Image के name में focus keyword को add करने चाहिए
  2. ALT text में भी same keyword को शामिल करें

इन दोनों की वजह से सर्च इंजन को आपके कंटेंट को समझने में भी मदद मिलती है।

14. Page Speed को Improve करें

अप्रैल 2010 में Google ने अपने Webmaster blog में site speed के बारे में article लिखा है और उसमे बताया है गूगल का search algorithm वेबसाईट की speed को ranking signal के रूप में शामिल किया गया है।

अगर आपकी वेबसाइट slow है तो उसकी speed को optimize कर लीजिये क्योंकि slow website न तो user को पसंद है और न ही गूगल को।

15. Mobile Friendly (Responsive) Theme का उपयोग करें

क्या आपको पता है गूगल पर 60% से भी अधिक ट्रैफिक mobile device से आता है। इसका मतलब अगर आपकी वेबसाइट mobile पर सही तरह से काम नही करती है तो आपको बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है।

इसके लिए जरुरी है की आप अपने वेबसाइट / ब्लॉग पर mobile friendly theme का उपयोग करें। आपकी साईट mobile friendly है या नही ये चेक करने के लिए आप Google के mobile friendly test tool का उपयोग कर सकते हैं।

Conclusion – On-Page SEO in Hindi

जब हम On-page SEO की बात करते हैं तो हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए की हम किसी सर्च इंजन के लिए नही बल्कि लोगों के content create कर रहे हैं। गूगल में टॉप पर आने के चक्कर में हम अपनी target audience न भूल जाएँ।

हमारी पहली प्राथमिकता हमेशा यही होनी चाहिए की हमारा content यूजर के काम का हो और वह जो जानना चाहता है उसी के बारे में हो। हाँ, सर्च इंजन को भी ध्यान में रखकर आपको काम करना पड़ेगा और इसके लिए उपर बताये गये On-page SEO optimization techniques का उपयोग करना चाहिए।

हमें उम्मीद है On-Page SEO क्या है? (What is On-Page SEO in Hindi?) On-page SEO कैसे करें? के विषय में लिखा गया यह लेख आपको पसंद आया होगा।

Default image
Vivek Vaishnav
नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ। इस ब्लॉग से आप वेब डिजाईन, वेब डेवलपमेंट, Blogging से जुड़े जानकारियां और tutorials प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

Newsletter Updates

Enter your email address below to subscribe to our newsletter

2 Comments

  1. Bahut hi useful jankari apne share kiya hai

Leave a Reply

error:
Copy link