Off-Page SEO क्या है? 7 Best तरीके ऑफ-पेज एसईओ करने के

अगर आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर गूगल जैसे search engines से ढेर सारी traffic लाना चाहते हैं तो आपको SEO techniques का उपयोग तो करना ही पड़ेगा।

SEO यानी Search Engine Optimization में अपनी वेबसाइट को optimize करने के मुख्य रूप से दो तरीके हैं: On-page और Off-page.

On-page SEO में हम अपनी वेबसाइट के अंदर optimization करते हैं जबकि Off-page में हमें अपने वेबसाइट के बाहर काम करना पड़ता है।

On-page SEO techniques के बारे में हमने आपको पहले ही बता दिया है। आज हम जानने वाले हैं की off-page SEO क्या है? What is Off-Page SEO in Hindi और ऑफ पेज एसईओ कैसे करते हैं?

Off-Page SEO in Hindi

ऑफ-पेज एसईओ क्या है? What is Off Page SEO in Hindi

अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन में रैंक कराने के लिए वेबसाइट के बाहर की जाने वाली activities को Off-Page SEO कहा जाता है।

Off Page SEO में backlink, social signals, Brand mentions, Local SEO जैसी चीजों पर ध्यान दिया जाता है।

आसान शब्दों में कहें तो:

Off-Page SEO वेबसाइट के बाहर की जाने वाली ऐसी गतिविधियाँ हैं जिससे आपका वेबसाइट SERP (Search Engine Result Page) पर बेहतर position में rank कर सके।

Off page SEO techniques का उपयोग कर हम अपने visitors और सर्च इंजन को यह विश्वास दिलाने की कोशिश करते हैं की हमारे वेबसाइट या ब्लॉग के कंटेंट भरोसेमंद है और लोग इसे पसंद कर रहे हैं।

हम ऐसा link building और social signals के द्वारा कर पाते हैं:

  • Link building: जब कोई अन्य वेबसाइट आपके content को backlink देता है तो गूगल उस कंटेंट को ज्यादा valuable और useful समझता है। इससे higher ranking के chances बढ़ जाते हैं।
  • Social signals: सोशल मीडिया पर अगर आपके कंटेंट को ज्यादा like और share मिलते हैं तो वह लोगों के बीच popular बन जाता है और गूगल भी इसे एक positive signal मानता है।

लेकिन Off page SEO में सिर्फ यही दो factors नही हैं, आप और भी कई सारे काम कर सकते हैं। आज उन्ही कुछ popular off-page SEO techniques के बारे में आगे हम बात करने वाले हैं।

On-Page और Off-Page SEO में क्या अंतर है?

  • On-Page SEO: वेबसाइट के content, speed आदि को optimize करना On Page SEO कहलाता है। इसमें हम title, description, URL structure, internal linking आदि को optimize करते हैं।
  • Off-Page SEO: वेबसाइट के बाहर external activities जैसे backlink, Social Media Marketing आदि off-page या off-site SEO कहलाता है।
On-Page SEOOff-Page SEO
Keyword OptimizationBacklinks
TitleSocial Signals
Meta DescriptionGuest Blogging
Internal LinkingBrand Mentions
URL StructureLocal SEO

Off Page SEO क्यों जरुरी है?

जरा सोचिये अगर एक ही टॉपिक पर दो websites ने article लिखा हुआ है और दोनों की quality same है तो क्या होगा?

गूगल किसे पहले नंबर पर रैंक करेगा?

जाहिर सी बात है गूगल को किसी न किसी ऐसे factor की जरुरत पड़ेगी जिसकी मदद से वह decision ले पाए की दोनों में से किस साईट की रैंकिंग पहले नंबर पर होगी।

अगर दोनों websites ने एक जैसा on-page SEO strategies का उपयोग कर optimization किया है तो ऐसी स्थिति में गूगल off-page SEO signals की मदद लेता है।

इस स्थिति में दोनों वेबसाइट में से जिसकी quality backlinks अधिक होगी (जिसका ऑफ पेज एसइओ बेहतर होगा) वह पहले नंबर पर रैंक करेगा। सर्च इंजन के काम करने का तरीका यही है।

ऑफ पेज एसईओ करने के फायदे (Off Page SEO Benenfits)

  • Domain Authority: इससे आपकी domain authority बढती है।
  • Search Engine Ranking: यह आपके वेबसाइट/ब्लॉग को SERP (Search Engine Result Page) में बेहतर position पर रैंक करने में मदद करता है।
  • Social & Referral Traffic: सोशल मीडिया मार्केटिंग और link building Off-site SEO के तरीके हैं और इससे आपकी साईट को सोशल मीडिया और अन्य platforms से referral ट्रैफिक भी मिलता है।
  • Online Branding: जब आपकी साईट सर्च इंजन, सोशल मीडिया और इन्टरनेट के अन्य प्लेटफॉर्म्स पर दिखाई देती है तो इससे आपका ब्रांड बिल्ड होता है।

ऑफ पेज एसईओ कैसे करें? [7 Best Techniques]

Off-page SEO करने के कई सारे तरीके हैं और समय-समय पर इनमे बदलाव भी होते रहते हैं। फिलहाल जो Off-page SEO Techniques काम कर रहे हैं उनके बारे में आप निचे पढ़ सकते हैं।

1. Link Building

ऑफ-साईट SEO में Link building का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है। जब आप backlink बनाते हैं तो गूगल आपके कंटेंट को ज्यादा importance देता है।

आप बैकलिंक को vote की तरह समझ सकते हैं, आपके साईट के जितने ज्यादा backlinks होंगे आप अपने competitor से उतने ही आगे होंगे।

लेकिन यहाँ पर बैकलिंक का मतलब quality backlink से है। बैकलिंक बनाते समय इस बात का जरुर ख्याल रखना चाहिए की जिस साईट से आप backlink ले रहे हैं वह आपके content के relevant होना चाहिए और वह spammy नही होना चाहिए।

2. Social Media

जमाना सोशल मीडिया का है, आजकल कौन सी चीजें ट्रेंडिंग कर रही हैं यह सोशल मीडिया से ही पता चलता है। गूगल जैसे सर्च इंजन भी इसे एक ranking signal की तरह उपयोग करते हैं।

आपको Youtube, Facebook, Instagram जैसे सोशल मीडिया platforms का बखूबी उपयोग करना चाहिए।

अगर आपके article, image, videos आदि सोशल मीडिया पर लोगों के द्वारा शेयर किया जा रहा है। लोग आपके brand को mention कर रहे हैं, आपके कंटेट बारे में बाते हो रही हैं, तो यह एक positive signal है। इससे आपका वह कंटेंट search engine पर भी रैंक होगा इसके chances बढ़ जाते हैं।

3. Guest Blogging

जब आप किसी दुसरे blog पर कोई article post हैं तो इसे guest blogging क्या गेस्ट पोस्टिंग कहा जाता है। यह off-site SEO का एक बेहतरीन तरीका है। इससे कई सारे फायदे होते हैं जैसे:

  • जब आप guest posting करते हैं तो ब्लॉग का owner आपको पोस्ट के अंदर या पोस्ट के निचे bio में एक backlink देता है।
  • इससे उस वेबसाइट के audience आपके बारे में जान पाते हैं और आपकी popularity बढती है।
  • Backlink पर click करके लोग आपकी site तक आते हैं तो इससे referral traffic भी मिल जाता है।

लेकिन इस काम के लिए भी आपको quality sites का ही चुनाव करना चाहिए।

4. Influencer Marketing

Influencer Marketing से आप किसी दुसरे व्यक्ति या वेबसाइट के reputation का उपयोग कर अपने content को promote कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ collaborate कर सकते हैं जिनके सोशल मीडिया पर ज्यादा followers हैं और उन्हें अपने कंटेंट को शेयर करने के लिए कह सकते हैं। आप social media influencers को पैसे देकर भी यह काम करा सकते हैं।

5. Brand Mentions

ब्रांड मेंशन एक ऐसा SEO technique है जिससे आप अपने वेबसाइट या ब्लॉग की popularity को बढाते हैं और इससे गूगल को आपके साईट के लिए positive signals मिलते हैं।

Brand mention के लिए कई सारे तरीके हैं जैसा की हमने ऊपर Influencer marketing के बारे में बताया वह भी एक तरीका है।

Brand mention के लिए link बनाना जरुरी नही है यदि किसी विडियो में, सोशल मीडिया पर, ब्लॉग पोस्ट में आपके ब्रांड, प्रोडक्ट या वेबसाइट के बारे में बात हो रही है तो वह भी ब्रांड मेंशन कहलाता है और इससे आपके सर्च रैंकिंग पर प्रभाव पड़ता है।

6. Local SEO

Local SEO यानि directory listing भी Off-page SEO के लिए काफी प्रभावशाली माना जाता है। यदि आप अपने बिज़नेस की जनके local listing websites जैसे Google My Business, Yahoo Local आदि पर डालते हैं तो लोग आपके बिज़नेस के बारे में जान पाते हैं।

इससे आपके बिज़नेस का reputation और trust level बढ़ता है। इससे सर्च इंजन को positive signal मिलता है और आपके कंटेंट SERP पर आप रैंक कर सकते हैं।

7. Forum Posting

फोरम एक बढ़िया है जहाँ पर आप अपनी website को promote कर सकते हैं। यह भी Off-page SEO का एक technique है। आप Quora, Yahoo Answers जैसे question answer platform का उपयोग कर सकते हैं।

आप अपने कंटेंट से related सवालों का जवाब दे सकते हैं और वहां पर अपने site की लिंक भी share कर सकते हैं।

  • क्या Backlink बनाना ही Off-Page SEO है?

    नही, बैकलिंक एक powerful और popular तरीका है लेकिन इसके अलावा और भी कई सारे तरीके होते हैं जिससे Off Page SEO किया जा सकता है।

  • क्या Off page SEO के लिए Backlink जरुरी है?

    नही, बिना बैकलिंक के भी Off page SEO किया जा सकता है। उदाहरण के लिए Brand mention के जरिये आप बिना लिंक बनाए प्रमोशन कर सकते हैं और इससे आपके सर्च इंजन रैंकिंग को boost मिलती है।

  • Off Page के लिए Brand Mention कैसे कर सकते हैं?

    ब्रांड मेंशन के कई तरीके हैं जैसे सोशल मीडिया पोस्ट्स, ब्लॉग पोस्ट, customer reviews, influencer marketing आदि।

Conclusion – Off-Page SEO in Hindi

जिस तरह से अपने ब्लॉग के article को हम On-page SEO का उपयोग कर optimize करते हैं उसी तरह Off-page SEO techniques का उपयोग करना भी जरुरी है।

लेकिन इस काम में भी आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे यदि आपका ब्लॉग नया है तो आपको बैकलिंक बनाने पर ज्यादा focus नही करना चाहिए बल्कि quality article लिखने पर ध्यान देना चाहिए।

Backlink के मामले में कई लोग बड़ी गलतियाँ भी कर देते हैं, जैसे: नए ब्लॉग के लिए बहुत सारे backlinks बना देना, backlink बनाने के लिए दूसरों के ब्लॉग पर जाकर spam comment करना आदि।

आपको ऐसा कोई भी काम नही करना चाहिए जो की सर्च इंजन की नजर में unnatural हो। इससे आपको negative ranking का सामना करना पड़ सकता है।

हमें उम्मीद है की आपको Off-page SEO के बारे में यह जानकारी पसंद आई होगी। इस विषय पर अपनी राय या सुझाव निचे कमेंट करके हमें जरुर बताएं।

Default image
Vivek Vaishnav
नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ। इस ब्लॉग से आप वेब डिजाईन, वेब डेवलपमेंट, Blogging से जुड़े जानकारियां और tutorials प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

Leave a Reply