Algorithm क्या है? Meaning of Algorithm in Hindi

Algorithm क्या है? (What is algorithm in Hindi) क्या आप इस सवाल का जवाब खोज रहे हैं?

अगर हाँ, तो आप बिलकुल सही जगह पर आये हैं। इस आर्टिकल में आपको अल्गोरिथम की जानकारी मिलेगी, एल्गोरिथम क्या होता है? इसका क्या उपयोग है? कहाँ-कहाँ उपयोग होता है? एल्गोरिथम के क्या फायदे हैं और क्या नुकसान है? इन सभी सवालों के जवाब आपको मिलेंगे।

Algorithm क्या है? (What is Algorithm in Hindi?)

algorithm kya hai - what is algorithm in hindi

किसी भी समस्या का चरणबद्ध तरीके से समाधान निकालने की प्रकिया को अल्गोरिथम (Algorithm) कहते हैं। इसके जरिये हम पहले problem को छोटे-छोटे हिस्सों में बाँट कर उसे solve करते हैं।

इसे problem के solution का या किसी काम को करने का procedure या formula भी कहा जा सकता है।

चलिए इसे एक daily life example से समझते हैं:

मान कर चलिए की आप हॉट कॉफ़ी बनाना चाहते हैं, तो चलिए इसके लिए हम एक एल्गोरिथम लिखते हैं:

  1. सबसे पहले गैस ऑन करें
  2. उसपर बर्तन में दूध डालकर गर्म करें
  3. स्वादानुसार कॉफ़ी पाउडर और चीनी डालें
  4. उबलने का इंतजार करें
  5. अब गैस बंद करें
  6. आपकी हॉट कॉफ़ी तैयार है

इस उदाहरण से आपको algorithm क्या है और कैसे लिखा जाता है इस बारे में पता चल गया होगा।

यह बहुत ही basic example है लेकिन computer programming के क्षेत्र में लिखे जाने वाले अल्गोरिथम की बात करें तो वह बहुत जटिल होता है।

कंप्यूटर एल्गोरिथम क्या है? (Computer Algorithm meaning in Hindi)

इससे पहले साधारण भाषा में हमने एल्गोरिथम को समझा अब चलिए जानते हैं की computer algorithm क्या है?

दरअसल algorithm का उपयोग ज्यादातर computer और programming के field में किया जाता है। अगर हम कहें की आपका कंप्यूटर पूरी तरह से अल्गोरिथम के द्वारा चलता है तो इसमें कोई गलत बात नही होगी।

कंप्यूटर को किसी भी तरह के काम को करने के लिए कंप्यूटर प्रोग्राम या software की जरुरत पड़ती है। एक कंप्यूटर प्रोग्राम को प्रोग्रामिंग करके बनाया जाता है।

प्रोग्रामिंग में हमें step by step instructions लिखने होते हैं और इन्ही code के माध्यम से बताना पड़ता है की कौनसा काम कैसे करना है।

इन्ही well defined steps को algorithm कहा जाता है। इसे coding करने से पहले ही तैयार कर लिया जाता है और इसी के अनुसार कोड लिखा जाता है।

Algorithm से flow chart भी बनाया जाता है जो की पूरे process को graphical तरीके से represent करता है।

एल्गोरिथम का उपयोग क्यों करते हैं?

जैसा की हमने उपर बताया की अल्गोरिथ्म किसी भी समस्या को सुलझाने का एक step by step process है।

असल जिंदगी में भी आपने देखा होगा की यदि कोई समस्या आ जाए तो हम परेशान हो जाते हैं, कई बार हमें समझ नही आता की उस काम को complete करने के लिए कहाँ से शुरू किया जाए और क्या क्या किया जाए।

लेकिन अगर हम इसके लिए कोई step by step process बना लेते हैं तो यह काम बहुत ही आसान हो जाता है।

Algorithm के जरिये हम problem के solution को step by step तरीके से दर्शाते हैं। फिर उन steps को follow करके समस्या को सुलझा लेते हैं।

  • अल्गोरिथम का उद्देश्य किसी task को perform करके output प्राप्त करना होता है।
  • इसमें समस्या के अनुसार कई सारे निश्चित steps होते हैं।
  • जब तक ये सारे steps एक sequence में complete नही हो जाते हमें output नही मिलता है।
  • इस process के बीच में कुछ conditions भी आ सकते हैं और उसके अनुसार steps change भी हो सकते हैं लेकिन ये सभी स्टेप्स पहले तय होते हैं।

कहने का मतलब यह है की एलोरिथ्म हमें किसी काम को कैसे करना है इसकी जानकारी देता है।

Characteristics of Algorithm in Hindi

एक सही algorithm लिखने के लिए आपको कई बातों का ध्यान रखना होता है। आइये algorithm के कुछ important characteristics को समझते हैं:

  • Finiteness (निश्चितता) : आपके algorithm में हमेशा निश्चित steps होने चाहिए। एक limited steps के बाद algorithm खत्म हो जाना चाहिए।
  • Input: Problem के solution के लिए हमें कुछ न कुछ चीजों की आवश्यकता होती है जिसे हम input कहते हैं। एल्गोरिथम में 0 या उससे अधिक inputs हो सकते हैं।
  • Output: हमें steps follow करने के बाद क्या परिणाम (output) मिलेगा यह भी पहले से defined होने चाहिए।
  • Unambiguous (स्पष्ट): प्रोसेस पूरी तरह से स्पष्ट होना चाहिए। ऐसा algo जो confusion पैदा करता हो हमारा समय और अन्य resources बर्बाद कर सकता है।
  • Feasible: क्या हम जो task perform करने जा रहे हैं वह सम्भव है? क्या हमारे पास उपलब्ध data या resources से उस काम को किया जा सकता है? अगर हाँ तो आप algorithm बना सकते हैं।

Algorithm का कहाँ उपयोग होता है?

एल्गोरिथम का उपयोग mathematics, science, computer programming, Artificial Intelligent, medical जैसे क्षेत्रों में अधिक होता है इसे daily life में भी उपयोग कर सकते हैं।

हम अपनी हर रोज कुछ न कुछ ऐसा काम करते हैं जिसमे algorithm का उपयोग होता है लेकिन हमें उस बारे में जानकारी नही होती।

तो चलिए आज ऐसे ही रोजमर्रा के कुछ कामो के बारे में जानते हैं जहाँ अल्गोरिथम का उपयोग होता है:

Facebook Algorithm:

आप फेसबुक हर रोज चलाते हैं, क्या आपने कभी सोचा है की क्यों कोई post viral हो जाता है जबकि कुछ पोस्ट पर लोगों के likes ही नही मिलते?

दरअसल इस काम के पीछे एक जटिल एल्गोरिथम है जो की सिर्फ उन्ही पोस्ट को viral होने देता है जिसे लोग पसंद करते हैं। सिर्फ यही नही इसके अलावा फेसबुक हर काम के लिए algo का उपयोग करता है।

केवल फेसबुक ही नही बल्कि सारे social media platforms algorithm का उपयोग करते हैं।

Google Search Algorithm:

इन्टरनेट पर करोड़ों कि संख्या में वेबसाइट हैं लेकिन गूगल पर कुछ सर्च किया जाए तो SERP (Search Engine Result Page) पर केवल top के sites ही दिखाई देते हैं ऐसा क्यों?

दरअसल गूगल जैसे सर्च इंजन websites को उनकी quality के आधार rank करते हैं और अच्छी sites को पहले पेज पर दिखाते हैं। इस काम के लिए ranking algorithms का उपयोग किया जाता है।

Operating Systems Algorithm:

आपके कंप्यूटर, स्मार्टफोन आदि में जो ऑपरेटिंग सिस्टम होते हैं और ये system के सारे task को manage करते हैं। ये इतने अच्छे से इसलिए काम कर पाते हैं क्योंकि इनके काम करने का तरीका algorithm आधारित होते है।

आपके computer system पर एक ही समय में कई सारे tasks चलते रहते हैं, OS के scheduling algorithm इन सभी tasks को उनकी priority के आधार process करता है।

ये कुछ basic examples हैं, algorithm कहाँ-कहाँ उपयोग होता है यह बता पाना काफी मुश्किल काम है क्योकि इसका उपयोग कई सारी जगहों पर किया जाता है।

एल्गोरिथम के क्या फायदे हैं? (Advantages of Algorithm in Hindi)

  • Algorithm किसी भी problem के solution को छोटे-छोटे parts में divide कर देता है जिससे समझने में आसानी होती है।
  • Step by step solution provide करता है जिससे यह clarity बढ़ जाती है।
  • Task को complete करने के लिए हमें किन-किन चीजों की जरुरत है यह पहले ही तय हो जाता है।
  • Decision making को आसान बनाता है।
  • एल्गोरिथम बनने के बाद इसके अनुसार किसी भी programming language में code लिखा जा सकता है।

एल्गोरिथम के नुकसान (Disadvantages of Algorithm in Hindi)

  • Algorithm बनाने में काफी समय लगता है यह time consuming काम है।
  • Looping और branching को दर्शाना काफी मुश्किल है।
  • बड़े प्रोजेक्ट के लिए अल्गोरिथम बनाने में काफी मेहनत लगती है।

Algorithm कैसे बनाया जाता है? (Examples of Algorithm in Programming)

एल्गोरिथम कैसे बनाया जाता है इसे समझने के लिए हम algorithm के कुछ basic example को देखते हैं:

Example 1: Write an algorithm to add two numbers entered by the user. (यूजर द्वारा इंटर किये गये दो नंबरों को जोड़ना)

Step 1: Start

Step 2: Declare variables num1, num2 and result.

Step 3: Read values num1 and num2.

Step 4: Add num1 and num2 and assign the result to result.

Step 5: Display result Step 6: Stop

Example 2: Write an algorithm to find the largest of three given numbers. (तीन नंबरों में से सबसे बड़ी संख्या का पता लगायें)

Step 1: Start

Step 2: Declare variables a,b and c.

Step 3: Read variables a,b and c.

Step 4: If a>b

If a>c

Display “a is the largest number”.

Else

Display “c is the largest number”.

Else

If b>c

Display “b is the largest number”.

Else

Display “c is the greatest number”.

Step 5: Stop

उपर दिए गये उदाहरण की तरह ही अलग-अलग field में अलग-अलग task को perform करने और समस्याओं को सुलझाने के लिए algorithm लिखा जाता है।

इसे लिखने के बाद लगभग सारी चीजें clear हो जाती हैं फिर इसे किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में coding करके implement कर लिया जाता है।

Conclusion – Algorithm क्या है? Meaning of Algorithm in Hindi

Technology की दुनिया में एल्गोरिथम का उपयोग बहुत ही ज्यादा होता है। सोशल मीडिया साइट्स से लेकर सर्च इंजन तक हर बड़े वेबसाइट में logical task को perform करने और decision making के लिए इसका उपयोग किया जा रहा है।आजकल AI यानी Artificial Intelligence का ज़माना है और बिना algorithm के इसके बारे में सोचना भी मुश्किल है।

उम्मीद है आपको इस आर्टिकल की मदद से Algorithm क्या है? (What is algorithm in Hindi) समझ आ गया होगा। अगर पसंद आये तो आप इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर साझा कर सकते हैं।

Default image
Vivek Vaishnav
नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ। इस ब्लॉग से आप वेब डिजाईन, वेब डेवलपमेंट, Blogging से जुड़े जानकारियां और tutorials प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

Newsletter Updates

Enter your email address below to subscribe to our newsletter

One comment

Leave a Reply

Copy link