पाइथन क्या है? What is Python in Hindi?

कंप्यूटर की दुनिया में बहुत सारे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज हैं और सभी के अपने-अपने फायदे और नुकसान हैं। आजकल सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला प्रोग्रामिंग लैंग्वेज Python है। क्या आपको पता है पाइथन क्या है? (what is Python in Hindi) और इसका क्या उपयोग है? इसके क्या फायदे हैं?

आज हम इसी python language के बारे में बात करने वाले हैं और विस्तार से पाइथन का मतलब (Python meaning in Hindi) जानने वाले हैं और यह भी जानेंगे की आखिर इसमें ऐसे क्या फायदे हैं जिससे यह इतना पोपुलर क्यों हो रहा है।

पाइथन क्या है? What is python in Hindi?

Python kya hai

पाइथन एक हाई लेवल, Object-oriented, free open source और interpreted प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है। यह एक General purpose language है जिसका उपयोग application development में किया जाता है। इसे पढना और समझना आसान है।

चलिए अब इन शब्दों को आसान भाषा में समझते हैं:

  • High Level Language: पाइथन एक हाई-लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है यानि इसे पढना और समझना हम इंसानों के लिए आसान है। इसमें ज्यादातर इंग्लिश शब्दों का उपयोग किया गया है। वहीं इसके विपरीत Low level language में binary (0, 1) का उपयोग होता है जिसे समझना आसान नही है।
  • Object-Oriented Language: पाइथन OOPs यानि Object Orient Programming के concept पर काम कर सकता है जहाँ Object, class, Inheritance आदि का उपयोग कर कोड को reusable, secure, compact और powerful बनाया जाता है।
  • Free & Open Source: यह free open source language है यानी इसे बिलकुल मुफ्त में उपयोग किया जा सकता है।
  • Interpreted Language: पाइथन में compiler की जगह interpreter का उपयोग होता है। जहाँ कम्पाइलर एक बार में सारे कोड को compile करता है वहीँ interpreter line-by-line code execute करता है।
  • General Purpose Language: Python एक general purpose programming language है इसका मतलब यह की इसका उपयोग web development और software development किया जाता है।

पाइथन क्यों सीखना चाहिए?

क्या आपको पता है पाइथन आजकल बहुत ज्यादा popular हो रहा है और developers इसे बहुत ज्यादा पसंद कर रहे हैं। PYPL PopularitY of Programming Language Index के अनुसार Python दुनियाभर में सबसे ज्यादा popular है।

top-10-programing-languages-in-hindi
Source: PYPL

इस प्रोग्रामिंग भाषा का हर जगह उपयोग हो रहा है और यह PHP Language का बहुत बड़ा competitor बन गया है। आजकल नये बिज़नेस या स्टार्टअप में Python developers की demand बहुत ज्यादा बढती जा रही है। इसलिए इसे सीखना आपके करियर के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।

वहीँ अगर आप beginner हैं और आपने अभी तक किसी भी प्रकार की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नही सीखी है तो Python से शुरुआत कर सकते हैं यह दूरे लैंग्वेज के मुकाबले ज्यादा आसान है।

अगर आप पाइथन सीख कर अपने resume में शामिल कर लेते हैं तो आपको कई अलग-अलग प्रकार के job profiles पर काम करने का मौका मिलेगा जैसे:

  • Python Developer
  • Web Developer
  • Software Developer
  • Research Analyst
  • Data Analyst
  • Data Scientist
  • Machine Learning Engineer

पाइथन में अच्छे करियर बनाने की सम्भावनाएं बहुत हैं ऐसे में आपको यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज आपको जरुर सीखनी चाहिए।

पाइथन लैंग्वेज का इतिहास – History of Python in Hindi

  • दिसम्बर 1989 में Guido van Rossum नाम के एक डच प्रोग्रामर ने अपनी ऑफिस की छुट्टी के दौरान समय बिताने के लिए एक प्रोग्रामिंग प्रोजेक्ट की शुरुआत की और इसी से पाइथन को बनाने की शुरुआत हुई।
  • पाइथन का नाम थोडा अजीब जरुर लगा होगा आपको दरअसल इसको बनाने के समय उन्होंने अपने मूड के अनुसार एक कॉमेडी सीरीज “Monty Python’s Flying Circus” से पाइथन शब्द को चुना और इस लैंग्वेज का नाम पाइथन रख दिया।
  • Guido van Rossum ने पाइथन का पहला version 0.9.0 फरवरी 1991 में नीदरलैंड के Centrum Wiskunde & Informatica (CWI) नाम के एक रिसर्च सेण्टर में रिलीज़ किया।
  • पाइथन लैंग्वेज ABC programming language से derived हुआ है।
  • पाइथन को अब पांच लोगों की एक core development team सम्भालती है।

पाइथन लैंग्वेज का उपयोग कहाँ होता है? (Python Language Uses)

पाइथन लैंग्वेज का आजकल बहुत ही ज्यादा उपयोग किया जा रहा है और information technology के लगभग सारे क्षेत्रों में इसका use किया जा रहा है। आइये जाते हैं पाइथन का उपयोग कहाँ-कहाँ और किस काम के लिए किया जा रहा है:

1. Web Development:

पाइथन में कोडिंग करना अन्य प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की तुलना में आसान होता है इसलिए डेवलपमेंट में बड़े प्रोजेक्ट को भी यह आसान बना देता है। सबसे खास बात पाइथन में pre-built libraries और frameworks मौजूद हैं जोकि काम को आसान बनाते हैं और इससे समय की बचत भी होती है। backend और server-side programming के लिए यह एक बेहतरीन लैंग्वेज है।

कुछ popular companies और websites जो Python का उपयोग कर रहे हैं:

  • YouTube
  • Google
  • Facebook
  • Instagram
  • Netflix

2. Desktop Applications

Desktop applications बनाने के लिए भी पाइथन का उपयोग किया जाता है। इसमें कई सारे library tools मौजूद हैं जिससे बेहतरीन user interface के साथ GUI applications बनाये जा सकते हैं। Application की कोडिंग करने के बाद आप py2exe module से executable file (.exe) बना सकते हैं और इसे किसी भी सिस्टम में इनस्टॉल कर सकते हैं।

3. Mobile Apps Development

Mobile apps बनाने के लिए आजकल developers Python programming को भी चुनना पसंद कर रहे हैं। इसके पीछे कारण है इसकी reliability और simplicity, इसमें ज्यादा lines of code नही लिखने पड़ते और इसे समझना भी आसान है। इसके द्वारा बनाये गये apps कई सारे Operating systems जैसे Android, iOS, Windows जैसे platforms पर चलाये जा सकते हैं।

4. Artificial Intelligence

Artificial Intelligence और machine learning की आजकल बहुत बातें हो रही हैं। यहाँ पर लॉजिक और एल्गोरिथम का ज्यादा उपयोग होता है। मशीन लर्निंग कंप्यूटर साइंस की एक ऐसी फील्ड है जिसमे हम ऐसे system तैयार करते हैं जो की खुद decision ले सकते हैं और खुद से सीख सकते हैं। पाइथन में ऐसे कई सारे tools हैं जिनकी मदद से ये काम किये जा सकते हैं।

5. Data Science

डाटा साइंस AI और machine learning से ही जुड़ा हुआ फ़ील्ड है। इसमें data collect करके उसे algorithm के जरिये filter किया जाता है और analyse किया जाता है। ऐसे कई सारे financial applications हैं जहाँ data visualization, analysis जैसे काम होते हैं पाइथन का उपयोग करते हैं। इसमें कई सारे डाटा टूल्स हैं जिनकी मदद से ये सारे काम किये जा सकते हैं।

इन सब के अलावा और भी कई ऐसे field हैं जहाँ पर पाइथन का use किया जाता है जैसे Game development, Robotics, Aerospace, Space science projects आदि।

पाइथन की विशेषताएं (Features of Python in Hindi)

इसमें कई सारे कमाल के features हैं जिनकी वजह से यह बहुत तेजी से growth कर रहा है। आइये जानते हैं इनके features के बारे में:

  1. Code लिखना आसान है: पाइथन प्रोग्रामिंग के syntax बहुत ही simple होते हैं इसलिए इस लैंग्वेज में कोड लिखना आसान है।
  2. यह मुफ्त और Open source है: इस लैंग्वेज पर काम करने के लिए आपको किसी को पैसे देने की जरुरत नही है और न ही किसी लाइसेंस की जरुरत है।
  3. High-Level Language: पाइथन एक high level programming language है इसमें आपको कोड लिखते समय system architecture, memory management का ध्यान रखने की जरुरत नही है।
  4. Object-Oriented Language: यह पाइथन का बहुत बड़ा feature है, यह Object-oriented programming language है और OOPs के concepts जैसे class, encapsulation, inheritance आदि को support करता है।
  5. GUI Programming को support करता है: Python language में graphical user interface बनाने के लिए PyQt5, PyQt4, wxPython जैसे कई सारे modules हैं और यह GUI development के लिए developers द्वारा बहुत पसंद किया जा रहा है।
  6. Interpreted Language: पाइथन एक interpreted language है और इसमें code का execution line by line होता है। यह C, C++ जैसे प्रोगाम से अलग होता है इसमें compiler की आवश्यकता नही होती है।
  7. Python Portable है: अगर हम portability की बात करें तो python highly portable language है। अगर आप Windows में program बना रहे हैं तो आप उसे Linux, Mac जैसे दुसरे platforms पर भी चला सकते हैं।
  8. Integrated Language: आप चाहें तो Python language को C, C++, Java जैसे प्रोग्रामिंग भाषा के साथ भी integrate कर सकते हैं।
  9. Highly Dynamic Language: अन्य प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में कोड लिखते समय हमें हर variable का data type बताना पड़ता है जबकि python runtime में data type पता कर लेता है इसलिए हमें type declare करने की जरुरत नही पड़ती।

पाइथन के फायदे? (Python Advantages)

  1. Python के कोड को पढना, समझना और सीखना आसान है क्योंकि इसके syntax सरल होते हैं और उसमे English के words शामिल होते हैं।
  2. Software development के काम को आसान बनाता है क्योंकि की सीखना समझना आसान है और इससे समय की बचत भी होती है।
  3. अगल-अलग Platforms और systems पर काम कर सकता है।
  4. इसके Strong Standard Library की वजह से कई सारे modules, functions आदि मिल जाते हैं जिससे हर एक चीज की कोडिंग करने की जरुरत नही पड़ती।
  5. कई सारे Open source frameworks और tools मौजूद हैं जो की काम को आसान बनाते हैं।
  6. बेहतरीन community support की वजह से आप अपने problem का solution भी पा सकते हैं।

पाइथन लैंग्वेज के नुकसान (Disadvantages of Python in Hindi)

  • Speed Limitation: जैसा की हमने बताया की यह एक interpreted language है और यह compiler use नही करता है इसलिए यह C, C++ जैसे language के मुकाबले slow execute होता है।
  • Memory Consumption: पाइथन अधिक memory consume करता है इसलिए कम मेमोरी के साथ काम नही किया जा सकता।
  • Mobile और Game development के लिए सही नही है: फिलहाल इससे advanced level के mobile apps और game develop नही किया जाता है।
  • Simplicity भी एक disadvantage है: पाइथन का आसान होना फायदेमंद तो है लेकिन इसका सरल होना भी नुकसानदायक है। पाइथन में काम करने के बाद डेवलपर को दुसरे कठिन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में काम करने में थोड़ी परेशानी हो सकती है। हालाँकि यह पूरी तरह developer पर निर्भर करता है।
  • Runtime Errors: चूंकि इसमें compiler नही होता इसलिए compile time में error का पता नही चलता इससे error detection का काम मुश्किल होता है।

आगे पढ़ें:

हमें उम्मीद है आपको इस आर्टिकल में पाइथन क्या है इस बारे में जानकारी अच्छी लगी होगी। आप अपने सवाल और विचार निचे कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं।

Default image
Vivek Vaishnav
नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ। इस ब्लॉग से आप वेब डिजाईन, वेब डेवलपमेंट, Blogging से जुड़े जानकारियां और tutorials प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

Newsletter Updates

Enter your email address below to subscribe to our newsletter

One comment

  1. Python ही आसान और छोटी लैंग्वेज है लेकिन ना जाने क्यों java language को ज्यादा importance दी जाती हैं

Leave a Reply

Copy link